blogger vs wordpress in hindi

Blogger VS WordPress in Hindi | ब्लॉगिंग के लिए बेस्ट प्लेटफार्म

Blogger VS WordPress in Hindi |ब्लॉगिंग के लिए बेस्ट प्लेटफार्म इन 2020

नमस्कार दोस्तों आज हम  Blogger VS WordPress in Hindi की जानकारी  देखेंगे |

blogger बेस्ट हैं या wordpress ,Advantages of blogger ,Advantages of wordpress और दोनों में क्या फर्क हैं।

कोनसा प्लेटफार्म ब्लॉगिंग के लिए बेस्ट हैं इसके बारे में आज हम जानने वाले हैं।

दोस्तों हर कोई ऑनलाइन अर्निंग करना चाहता हैं। और इसी के लिए सभी लोग ब्लॉगिंग को चुनते हैं जिसके जरिये ऑनलाइन पैसे कमाए जाए। ब्लॉग्गिंग एक ऑनलाइन पैसे कमाने का बेहद ही अच्छा ऑप्शन हैं।

लोग ब्लॉगिंग से लाखो करोडो रुपये कमाते हैं  पर इसके लिए मेहनत बहुत लगती हैं तभी जाकर आप ब्लॉगिंग में सक्सेस हो सकते हैं।

बहुत सारे लोग ब्लॉगिंग करना चाहते हैं पर उन्हें एक सवाल हमेशा परेशांन  करता हैं।

की हम ब्लॉगिंग के लिए कोनसा प्लेटफार्म use करे ? दोस्तों ब्लॉगिंग के लिए बहुत सारे प्लेटफॉर्म्स हैं इसमें wix ,wordpress ,blogger ,tumbler और भी बहुत प्लेटफॉर्म्स हैं।

इन सबमे blogger और wordpress यह दोनों बहुत ही ज्यादा लोकप्रिय हैं।

बहुत सारे ब्लॉगर्स इन्ही दोनों platforms का use करते हैं।

दोस्तों तो चलिए जानते हैं की ब्लॉग्गिंग के लिए कोनसा प्लेटफार्म बेस्ट हैं।

आज हम blogger or wordpress  में क्या फर्क हैं यह जानेंगे।

तो दोस्तों ज्यादा समय ना गवाते चलिए शुरू करते हैं।

Difference Between Blogger & WordPress

happy New Year Speech २०२०  

Advantages Of Blogger |ब्लॉगर के फायदे

  1. दोस्तों ब्लॉगर एक गूगल द्वारा बनाया गया ब्लॉगिंग प्लेटफार्म हैं।
  2. ब्लॉगर में आपको फ्री होस्टिंग मिलती हैं जिससे आप फ्री में अपनी वेबसाइट बना सकते हैं।
  3. इसमें आपको गूगल की सुरक्षा मिलती हैं जिससे आपकी साइट हैक होने का खतरा बिलकुल भी नहीं रहता।
  4. ब्लॉगर में आपको फ्री डोमिन दिया जाता हैं जिससे आप अपना फ्री में ब्लॉग बना सकते हैं।
  5. आपको ब्लॉगर में फ्री में SSL प्रमाणपत्र भी दिया जाता हैं जिसकी कीमत १ हजार से हैं।
  6. ब्लॉगर में आप फ्री में कितने भी ब्लोग्स बना सकते हैं।
  7. ब्लॉगर गूगल का ब्लॉगिंग प्लेटफार्म होने के कारन गूगल ही इसको होस्टिंग फ्री में देता हैं यह होस्टिंग आपका कितना भी ट्रैफिक संभाल सकती हैं कभी भी आपकी साइट स्लो नहीं होगी।
  8. इसमें साइट बनाने से आपको कोई भी बड़ी प्रॉब्लम आती हैं तो ब्लॉगर उसे तुरंत ठीक कर देता हैं।
  9. यह एक बहुत ही सिंपल प्लेटफार्म हैं इसे कोई भी बिगेनियर आसानी से समझ सकता हैं और इसपर काम कर सकता हैं।
  10. आपको ब्लॉगर लाइफटाइम के लिए फ्री में मिलता हैं।
  11. ब्लॉगर गूगल का प्लेटफार्म होने के कारन यह एडसेन्स फ्रैंडली भी हैं जिससे आप अच्छी खासी अर्निंग भी कर सकते हैं।

यह कुछ ब्लॉगर के महत्वपूर्ण फायदे थे। ब्लॉगर के और भी बहुत सारे फायदे हैं।

दोस्तों अभी हमने ऊपरBolgger VS WordPress in Hindi ,ब्लॉगर के फायदे देखे हैं अब हम वर्डप्रेस के फ़ायदों के बारे में जानने वाले हैं।

Advantages Of WordPress | वर्डप्रेस के फायदे

  1. वर्डप्रेस एक सबसे लोकप्रिय ब्लॉगिंग प्लेटफार्म हैं जो की सबसे ज्यादा use किया जाता हैं दुनिया की ३८ % वेबसाइट वर्डप्रेस पैर ही हैं।
  2. वर्डप्रेस में आप अपनी साइट को पूरी तरह से अपने अंदाज में बना सकते हैं आपको सभी costomization का freedom दिया जाता हैं।
  3. इसमें आपको अलग अलग तरह की प्लगिन्स use करने का मौका मिलता हैं जिससे आप अपना ब्लॉग बहुत ही आसानी से रैंक करवा सकते हैं।
  4. वर्डप्रेस में आप किसी भी तरह का ब्लॉग या वेबसाइट बना सकते हैं चाहे वह एजुकेशनल हो या फिर इ-कॉमर्स किसी भी साइट को आप वर्डप्रेस में बना सकते हो।
  5. इसमें  आपको अपनी वेबसाइट का सारा कण्ट्रोल मिलता हैं आप अपनी साइट को खुद हैंडल कर सकते हैं।
  6. वर्डप्रेस पर ब्लॉग बनाने के लिए कोई भी कोडिंग का ज्ञान नहीं होगा तो भी आप उसमे आसानी से आपके जरुरत नुसार वेबसाइट बना सकते हैं

दोस्तों यह कुछ वर्डप्रेस के फायदे थे। अब तक हमने blogger और wordpress के फ़ायदोंके बारे में जाना।

तो दोस्तों अब हम आपको कुछ blogger और wordpress के नुकसानों के बारे में बताने वाले हैं।

Disadvantages of Blogger | ब्लॉगर के नुकसान

  1. इसमें में आपको अपने ब्लॉग या फिर वेबसाइट का पूरा कण्ट्रोल नहीं मिलता।
  2. ब्लॉगर में आप अपनी साइट पूरी तरह से कस्टमाइज नहीं कर सकते यह इसका बहुत बड़ा नुकसान हैं।
  3. इसमें में आपको सिमित ही थीम्स मिलती हैं जिससे ही आपको ब्लॉग बनाना पड़ता हैं।
  4. ब्लॉगर में आप कोई भी प्रकार की प्लगिन्स का use नहीं कर सकते।
  5. इसमें आपको साइट का सारा कण्ट्रोल गूगल नहीं देता गूगल खुद आपकी साइट का कण्ट्रोल करता हैं|

तो दोस्तों यह कुछ ब्लॉगर के नुकसान थे जिसका आपको सामना करना पड़ सकता हैं।

तो दोस्तों यह कुछ ब्लॉगर के नुक्सान थे अब हम वर्डप्रेस के नुकसानोंके बारे में जानेंगे|

 

Disadvantages of WordPress | वर्डप्रेस के नुकसान

  1. वर्डप्रेस में आपको होस्टिंग खरीदनी पड़ती हैं इसके लिए आपको बहुत पैसोंकी जरुरत पड़ती हैं।
  2. इसमें में आपको डोमेन भी खरीदना पड़ता हैं यह भी इसका बहुत बड़ा नुकसान हैं।
  3. वर्डप्रेस एडवांस हैं इसलिए नए ब्लोग्गर्स को सीखने में थोड़ा ज्यादा मुश्किल हैं ब्लॉगर के मुकाबले।

तो दोस्तों ज्यादा नहीं यही कुछ वर्डप्रेस के नुकसान थे। आशा करता हु की हमारी Bolgger VS WordPress in Hindi जानकारी आपको पसंद आरही हैं।

My Opinion | मेरा मत

दोस्तों जैसे की हमने आपको पूरी डिटेल्स में बताया हैं की ब्लॉगर के क्या फायदे हैं? ब्लॉगर के क्या नुकसान हैं? वर्डप्रेस के क्या फायदे हैं? वर्डप्रेस के क्या नुकसान हैं?

तो इससे आपको कोनसा प्लेटफार्म सबसे अच्छा हैं इसका अंदाजा लगा होगा फिर भी मुझे क्या लगता हैं मैं इसके बारे में आपको बताता हु।

दोस्तों अगर आप ब्लॉग्गिंग में नए हो और ब्लॉगिंग के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं हैं तो  ब्लोग्गर का इस्तमाल करो कुंकि ब्लॉगर बहुत ही आसान हैं सीखने को।

अगर आपको पहले से ही वर्डप्रेस के बारे में ज्यादा जानकारी हैं तो आप वर्डप्रेस का इस्तमाल कर सकते हो कारन वर्डप्रेस बहुत ही अच्छा प्लेटफार्म हैं और इसके साथ आप जल्दी से रैंक भी हो सकते हो।

आपके पास पैसे  आप ब्लॉगर को चुन सकते हो कारन ब्लॉगर बिलकुल फ्री हैं।

आपके पास थोड़े बहुत पैसे हे तो आप वर्डप्रेस पर  जा सकते हो।

मेरे हिसाब से आपको बताऊ तो वर्डप्रेस बहुत ही बढ़िया हैं।  जिसमे आपको अपने साइट का पूरा कण्ट्रोल मिलता हैं और अलग अलग plugins  use करने का मौका मिलता हैं।

आप अपनी साइट को अच्छी तरह से ऑप्टिमाइज़ कर सकते हो पर यह ब्लोगर में मुमकिन नहीं इसलिए मैं आपको वर्डप्रेस ही use करने की सलाह दूंगा।

तो दोस्तों अब हमने आपको ब्लॉगर और वर्डप्रेस के बारे में सभी संक्षिप्त रूप में बताया हैं।

तो दोस्तों आपको आर्टिकल कैसा लगा यह हमें कमेंट में जरूर बताना।

और इससे संबधित कोई भी सवाल हो तो जरूर पूछना हम आपका निवारण जरूर करेंगे।

धन्यवाद….

 

 

 

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *